Healthy Wealthy & Recipes

अजवाइन के पत्ते

प्रकृति का अनमोल तोहफा ( अजवाइन के पत्ते )

आज के इस ब्लाग के बारे में अजवाइन के पत्ते जो कि प्रकृति का बहुतअनमोल तोहफा है उसके बारे में चर्चा करेगें, कि हमारे जिन्दगी में इसका क्या लाभ है और क्या नुकसान है। 

अजवाइन के पत्ते

गुण-

अजवाइन के बीज से सभी परिचित है,जो अनेक तरह का भारतीय भोजन का हिस्सा है।

लेकिन आज बात करेंगे अजवाइन के पत्ते की जो कि गुणों का खान है।

इसके पौधे को “इंडियन बोरेज” के नाम से जाना जाता है।

इन पौधे की पत्तिया सेहत की दृष्टि से बहुत ही फायदेमंद होती है।

अजवाइन के पत्ते का रंग चमकीला हरा होता है, साथ ही गुदेदार होता है।

पतों के ऊपरी परत पर मुलायम बाल होता है। यह आसानी से उगने वाला पौधा है ,जो तुलसी और मीठा नीम की तरह बारह मासी पौधा है। 

पौधे किसी भी नर्सरी में असानी से मिल जाती जाती है। अज वाइन का कलम भी जल्दी लग जाता था। 

 

“ओरिगैनो “(ओरिगैनो  वल्गार )

 

ओरिगैनो का उपयोग पिज़्ज़ा हर्ब के रूप में होता है।

इसलिए अधिकतर ओरिगैनो  का अर्थ केवल पिज़्ज़ा का स्वाद बढ़ाने से समझा जाता है। 

ओरिगैनो से पिज़्ज़ा का स्वाद तो बढ़ता ही है।

बहुत से भारतीय भोजन में अजवाइन के पत्ते का उपयोग करके स्वाद के साथ सेहत भी बढ़ाया जा सकता है। 

अजवाइन के पत्ते

ओरिगैनो  क्या है और कैसे बनाते है :-

 

ओरिगैनो  ,इसके के पत्तो को सूखा कर बनाया जाता है।

पौधो की पूरे विश्व में 60 से भी अधिक प्रजाति पाई जाती है।

पत्तो की तासीर गर्म होती है।

पौधो की लम्बाई तीन फिट तक होती है। यह बारह मासी पौधा है।

जो आसानी से गमलें या जमीन पर उग जाता है।

बाजार में इस पौधो के पत्तो का चाय की पत्ती और तेल मिलता है, जो की बहुत ही अच्छा दर्द निवारक का काम करता है।

इसके अलावा बहुत से औषधीय में भी इसका प्रयोग किया जाता है। 


ओरिगैनो  बनाने का तरीका –

 

ओरिगैनो  बनाने के तरीके अलग अलग है,आप किसी भी तरीके का  उपयोग कर सकते है।

किसी भी  तरीके से बनाया गया हो इसके  स्वाद में कोई अंतर नहीं आता  है।

अजवाइन के पत्ते

पतो को डायरेक्ट सन ड्राई कर सकते है।

पत्ते चूकि गूदेदार होते है, तो सूखने में समय लगता है।

गुरगुरा होने के लिए 7 -8 दिन का समय लग सकता है। 

ओवन मे 5 मिनट तक रखे। 

कढ़ाई को धीमी आंच पर रखे जब कढ़ाई गर्म हो जाये, तो इस के पत्तो को डाल कर कुरकुरा होते तक रखे।  

पत्तो को सूखने के बाद हाथो से प्रेस कर ले ,अगर पाउडर चाहिए तो मिक्सर ग्राइंडर में ग्राइंड कर ले। 

ओरिगैनो  के पौधे मे टैनिक नामक आवश्यक तेल पाया जाता है।

पत्तो का उपयोग मसालो और आयुर्वेदिक दवाओं में किया जाता है।

साथ ही सौन्दर्य प्रसाधन में भी इसके पत्तो का उपयोग होता है। 


अजवाइन में पाए जाने वाले तत्व :-

कार्बोहाइड्रेड, प्रोटीन, ओमेगाफैट, एसिड्स, कैल्शियम, फाइबर ,आयरन, एंटी-ऑक्सीडेंट,एंटी-माइक्रोबियल,एंटी-इफ्लेमेंटरी ,विटामिन-डी ,विटामिन-के, विटामिन-ई ,विटामिन-ए, विटामिन -बी 6, सोडियम ,पोटेशियम, जिंक पाया जाता है। 

अजवाइन के पत्ते

 

स्वास्थ्य लाभ :-

इन पत्तो में स्वाद के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक होता है। 


इम्यून सिस्टम को मजबूत करने मदद करता है :-

 

पत्तो में एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-वायरल प्रॉपर्टीज होती है।

जो शरीर में इम्यून सिस्टम को मजबुत करने में मदद करता है।

पत्तो में मौजुद थियामिन  रोगाणु  और उससे होने वाली इन्फेक्शन दूर करने में मदद करता  है।

रोजाना पत्तो का छोटा भाग चबाकर खा सकते है।  कुछ पत्तो को पानी  में डाल कर उबाल ले फिर ठंडा करके पी ले। 


डिहाइड्रेशन की समस्या से निजात पाने में सहायक :-

 

खास कर गर्मी के दिनों में डिहाइड्रेशन की समस्या हो जाती है। पत्तो का जूस शरीर में पानी की कमी को पूरा करती है।

जूस में तुलसी के पत्तो और निम्बु का रस  डाल ले , जिससे यह और भी गुणकारी हो जायेगा। 


सेहतमंद पेट के लिए:-

 

जठरांत्र और पाचन से जुडी किसी तरह की समस्या महसुस हो रही हो तो इसके पतियों को चबाकर खाने से आराम मिलता है।

भुख बढ़ाने और पाचन तंत्र को सही रखने में मदद करती है। 

 

सर्दी -खासी में आराम दिलाने मे सहायक :-

 

सर्दी-खासी होने पर अजवाइन के पत्ते का काढ़ा बनाकर  पीने से आराम मिलता है।   

 

 बालो की समस्या से निजात पाने में सहायक :-

 

बाल झड़ना, रुसी, रूखापन को दूर करने में इसके पत्ते सहायक है

पत्तो में विटामिन-इ ,विटामिन-सी ,प्रोटीन, आयरन, पोटेशियम, मैगेनिशयम की अच्छी मात्रा पाई जाती है।

जो कि बालो की लिए अच्छा है।

पत्तो को नियमित रूप से चबा कर खा सकते है।

या हफ्ते में एक दिन इसके पत्तो को पीस कर लगाए। 


त्वचा संक्रमण:- 

 

मुँहासे ,दाग-धब्बे,त्वचा की खुजली इत्यादि समस्या होने पर, पत्तो का उपयोग कर राहत पा सकते है।

 

एनीमिया से पीड़ित व्यक्ति के लिए लाभदायक :-

 

इसके पत्तो में अच्छी मात्रा में आयरन पायी जाती है।

इसके पत्तो के सेवन से हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है। 

 

मासिक धर्म के दर्द को कम करने में सहायक :-

 

ओरिगैनो में एंटी-इंफ्लेमेंटरी ,एंटी-ऑक्सीडेंट ,एंटी-माइक्रोबियल प्रापॅर्टी पाई जाती है जो की दर्द से निजात पाने  सहायक होती है। 

पत्तो के सेवन से होने वाले कुछ नुकसान :- 

 

किसी भी चीज का अत्यधिक सेवन चाहे वह प्राकृतिक ही क्यों ना हो, नुकसान दायक होता है। 

अजवाइन के पत्ते

इसके पत्तो के अत्यधिक सेवन से पेट ख़राब हो सकता है। 

गर्भवती  महिलाओ को इन पत्तो का सेवन बिना डॉक्टर के परामर्श से नहीं करना चाहिए। 

मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति को बिना चिकत्सीय परामर्श के, पत्तो का सेवन नहीं करना चाहिए। 

 

उपयोग रसोई में:-

 

पत्तो का पराठा:-

इन पत्तो से अत्यधिक स्वादिष्ट और नरम पराठा बनता है। 

अजवाइन के पत्तो का पराठा


सामग्री :-

एक कटोरी गेहु का आटा +एक कटोरी अजवाइन के पत्ते +लहसुन की 4-5 कालिया +नमक स्वादानुसार +तेल

 
विधि :-

सबसे पहले अजवाइन के पत्तो को उबाल ले। 
मिक्सर ग्राइंडर में ग्राइंड कर ले , अतरिक्त पानी को निकल कर साथ में लहसुन की कालिया भी डाल दे । 


आटा में अजवाइन की पीसी हुई पत्तिया डाल कर नर्म गुँथ ले, गुथने के बाद ऊपर से तेल लगा कर 10 मिनट के लिए रख दे। 


लो फ्लेम पर तवा गर्म कर पराठा को दोनों तरफ से सेक ले,

पराठा में घी या तेल का इस्तेमाल कर सकते है। 


अब पराठा को ग्रीन चटनी के साथ एन्जॉय करे।

 

अजवाइन के पत्तो का जूस:-

अजवाइन के पत्तो का जुस बनाने के लिए सबसे पहले अजवाइन के पत्तो को साफ पानी में धो कर रख ले। 


एक कप अजवाइन के पत्ते +आधा चमच्च निम्बु +5 -6 तुलसी के पत्ते +पानी 

अजवाइन के पत्तो का उपयोग सलाद में भी कर सकते है।

और अजवाइन का इस्तेमाल आप बेशन के स्वादिस्ट पकोड़ा बनाने में भी कर सकते है। 

 

अजवाइन के पत्तो की चटनी :- 

पत्तो का  चटनी  बनाने के लिए सबसे पहले अजवाइन के पत्तो को साफ पानी में धो कर रख ले। 

अजवाइन के पत्तो की चटनी

एक कटोरी अजवाइन के पत्ते +लहसुन की कालिया +हरी मिर्च 6 -7 +नमक स्वादानुसार सभी को मिला  कर   मिक्सर ग्राइंडर में ग्राइंड कर ले।

 

इस ब्लााग में अजवाइन केे  पत्तो  से क्या लाभ है और क्या नुकसान है, इसके बारे में विस्तार से चर्चा की हूँ। आशा करती हूँ कि आपको जरूर पसन्द आया होगा, मुझे कमेंट बाक्स में कमेन्ट करके जरूर बताइगा।

2 thoughts on “अजवाइन के पत्ते

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate Page »