Featured Healthy Wealthy & Recipes

छत्तीसगढ़ी व्यंजन ….मुनगा भाजी

    ( DRUMSTICK LEAF )

          सहजन / मूनगा (भाजी )

सहजन की पत्तियों में – कैरोटीन ,पोटेशियम ,विटामिन C ,विटामिन A ,विटामिन E ,विटामिन B6 , आयरन ,मैगनीशियम , जिंक ,कैल्शियम , प्रचुर मात्रा में होती है जो की शरीर के विकास चाहे वह शारीरिक ,या मानसिक हो दोनों के लिए बहुत ही महत्त्वपूर्ण होता है ,खासकर बढ़ते बच्चो के लिए बहुत लाभप्रद होता है।

 

 

 

 
 
 
बनाने की विधि ;-
 
           सामग्री – 1  सहजन की धूलि और कटी हुई साफ पत्तिया 
 
                        2  लहसुन 
 
                        3 चना की दाल 
 
                        4 नमक स्वादानुसार 
 
                        5 मिर्च , हरी या लाल मिर्च खड़ी 
 
                        6 टमाटर ,तेल 
 

 

 

 

 
विधि – 1  सबसे पहले पत्तियों को तोड़कर धो लेंगे।
 
          2  धोने के बाद कट कर लेंगे। 
 
          3  कुकर में चना दाल डाल कर धो लेंगे।
 
           4  कटा हुआ टमाटर डाल लेंगे। 
 
           5  थोड़ा सा पानी व नमक डाल लेंगे। 
 
           6  फिर सहजन की पत्तियों को भी कुकर में डाल कर  कुकर बंद करके 4 -5 सीटी आने तक पका लेंगे। 
          
           7 कढ़ाई गर्म करके उनमे तेल डाल लेंगे,गर्म तेल में’लहसून  और मिर्च  डाल देंगे  थोड़ी देर में मिर्च  व  लहसुन लाल हो जायेगा फिर उबला हुआ  सहजन को डाल कर चम्मच चलाते हुए मिक्स कर लेंगे। 
 
 
 
          
 
अब सहजन की भाजी तैयार है इसे रोटी या चावल  साथ गरमा गर्म थाली में परोसे ……. और आनद ले खाना ,और परिवार के साथ का। 
 
 
गुणों से भरपूर है सहजन
 
 
 
सहजन के फूल ,पत्ते व फली तीनो बहुत लाभदायक है हर वर्ग के लोगो के लिए फायदेमंद है –
  1. ब्लड शुगर लेवल को संतुलित करता है। 
  2. ह्रदय  रोग के मरीज के लिए लाभदायक है। 
  3. डायबिटीज के मरीज केलिए लाभदायक है। 
  4. दूध पिलाने वाली माता और गर्भवती स्त्री के लिए एक वरदान है सहजन। 
  5. वजन काम करने में सहायक। 
  6. कब्ज़ और पेट के कीड़े ( राउंड वॉर्म ) को ख़त्म करता है। 
  7. सहजन में एंटी ओक्सिडेंट   पाया जाया जाता है, जिसके कारण थकन नहीं होता और  एनर्जी बनी  रहती  है। 
  8. किडनी स्टोन की समस्या में उपयोगी  है। 
  9. थायराइड रोगी के लिए लाभदायक। 
  10. अनीमिया, अनिद्रा ,हाइपरटेंशन ,अस्थमा, आर्थराइटिस, भूलने की बीमारी , डिप्रेशन भी ठीक करता है। 
  11. जो बच्चे दूध नहीं पीते, उनके लिए  उपयोगी  है क्योंकि सहजन में कैल्शियम पर्याप्त मात्रा में होती  है। 
 
 
                                                        

2 thoughts on “छत्तीसगढ़ी व्यंजन ….मुनगा भाजी

  1. बहुत बढ़िया भाई, आप जैसे लोगो की जरूरत हैं जो हमारे छेत्रिए व्रंजनो को राष्ट्रीय मंच पे लाए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate Page »